वसीयत लिखने में न करें ये गलतियां, नहीं तो होगी बड़ी परेशानी

0

will-ll

     उम्र के एक पड़ाव पर आकर अक्सर लोग अपनी वसीयत बनवा ही लेेते हैं। ऐसा कर वो अपनों को लेकर निश्चिंत हो सकते हैं। यानी उनके न रहने पर भी उनकी पत्नी और बच्चों को आर्थिक रुप से कमजोर नहीं होना पड़ेगा। लेकिन अधिकतर लोग संपत्ति के वारिस का नाम कागजात में दर्ज करना भूल जाते हैं। इसमें कोई आश्चर्य नहीं है कि इसी वजह से कई अमीरों की मौत के बाद उनके कई वारिस सामने आ जाते हैं और फिर लंबा कानूनी विवाद चलता रहता है। आज जानिए वसीयत से जुड़ी ये गलतियां नहीं करनी चाहिए।

वसीयत सही से तैयार नहीं करना

      कई लोग वसीयत बनाते समय कुछ गलतियां कर देते हैं। आपको जरूरी निजी डिटेल्स जैसे नाम, पता, स्थान और तारीख के साथ-साथ लाभार्थी का पूरा नाम, संबंध और संपत्ति का सही-सही विवरण लिखना चाहिए।

home willc-ll

विस्तार से दें पूरी जानकारी

     अपनी चल और अचल संपत्तियों की जानकारी विस्तार से दें। इसके अलावा अन्य जानकारी जैसे अपने हर बैंक खाते, लॉकर नंबर्स और प्रॉपर्टी की डिटेल्स विस्तार में लिखें। इससे किसी तरह का कन्फ्यूजन पैदा नहीं होगा।

वसीयत को अपडेट करना ना भूलें

     वसीयत बनाने के बाद अगर आपकी संपत्ति या वारिस की स्थिति में कोई बदलाव होता है तो वसीयत को अपडेट करना ना भूलें। अगर किसी नाबालिग के नाम वसीयत तैयार करना चाहते हैं तो उसका गार्जियन भी जरूर नियुक्त करें। अगर गार्जियन नियुक्त रहता है तो वह नाबालिग के बालिग होने तक उसके केयरटेकर की भूमिका निभाता है।

Share :
Share :
source: पंजाब केसरी.

Leave A Reply

Share :