खास तरह के होम लोन, कर्ज चुकाने में होगी आसानी

0

2018_4$large_Home-loan-2-2

     प्रॉपर्टी की बढ़ती कीमतों के साथ-साथ होम लोन की ब्याज दरें भी बढ़ती जा रही हैं, जिससे आम लोगों को सपनों का घर खरीदने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। एक छोटा घर खरीदकर संतुष्ट होना पड़ रहा है या मन मुताबिक घर खरीदने के लिए काफी लंबे समय तक इंतजार करना पड़ रहा है। घर खरीदने में उनकी मदद करने के लिए, कई लोन कंपनियां, तरह-तरह के होम लोन देने लगी हैं जिन्हें होम लोन लेने वाले उधारकर्ताओं की जरूरतों के अनुसार तैयार किया गया है। आइए आपको इस तरह के नए होम लोन के बारे में बताते हैं।

स्टेप अप होम लोन

      एक स्टेप अप होम लोन आपको रेगुलर होम लोन के अंतर्गत आपकी लोन योग्यता से अधिक लोन लेने में सक्षम बनाता है। यह विकल्प उन होम लोन उधारकर्ताओं के लिए फायदेमंद है जो अपने करिअर की शुरुआत में अधिक EMI नहीं दे सकते हैं जिससे वे होम लोन की मंजूरी पाने के लिए योग्यता मानदंडों को पूरा नहीं कर पाते हैं। यह विकल्प एक घर खरीदने वाले खरीदार को शुरआती साल में कम EMI भरने की अनुमति देता है, और बाद के सालों में EMI की रकम बढ़ जाती है। यह लोन आमदनी में होने वाली प्रत्याशित वृद्धि को ध्यान में रखते हुए दिया जाता है। एक प्रमुख बैंक आपको स्टैंडर्ड होम लोन के समान ब्याज दर पर 20 साल की अवधि के लिए स्टेप अप होम लोन देता है।

ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी वाला होम लोन

       होम लोन लेने के बाद, आप जल्द से जल्द इस कर्ज से छुटकारा पाने के बारे में सोच सकते हैं। इसके लिए आप अपने लोन का प्रीपेमेंट करने के लिए और अपने लोन की अवधि को कम करने के लिए अपने सरप्लस इनकम का इस्तेमाल कर सकते हैं। बेशक इससे आपकी देनदारी को तेजी से कम करने में मदद मिलेगी लेकिन एक बार प्री-पेमेंट करने के बाद वह पैसा आपके पास वापस नहीं आएगा। यहीं एक होम लोन ओवरड्राफ्ट मददगार साबित होता है। इस प्रॉडक्ट की मदद से लोन कंपनी आपके नॉर्मल सेविंग्स/करंट अकाउंट को आपके होम लोन अकाउंट के साथ लिंक कर देती है और आपके सेविंग्स अकाउंट में मौजूद पैसे को प्रीपेमेंट मान लेती है जिससे उस लोन पर लगने वाले ब्याज की काफी बचत होती है। बाद में, पैसे की जरूरत पड़ने पर आप अपने अकाउंट से बड़े आराम से उस पैसे को निकाल सकते हैं और लोन का बैलेंस और ब्याज उसी हिसाब से फिर से अजस्ट हो जाएगा।

      यदि समय-समय पर आपको एक बड़ी रकम मिलती रहती है तो ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी वाला होम लोन लेने पर आपका काफी ब्याज बचा सकता है। यह खास तौर पर उस तरह के बिजनसमैन के लिए उपयोगी होता है जिनकी आमदनी अनियमित या अनिश्चित होती है, और जिन्हें समय-समय पर वापस अपने पैसे की जरूरत पड़ सकती है। लेकिन इस विकल्प का ज्यादा से ज्यादा लाभ उठाने के लिए आपको यह जरूर देख लेना चाहिए कि भविष्य में आपको अतिरिक्त रकम मिलेगी या नहीं। ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी वाले होम लोन के मामले में, जमा की गई अतिरिक्त रकम पर धारा 80 (C) के अंतर्गत टैक्स लाभ नहीं मिलता है, क्योंकि इस पैसे को इनकम टैक्स की नजरों में होम लोन का प्री-पेमेंट नहीं माना जाता है।

पेंशनभोगियों के लिए होम लोन

    जैसा कि नाम से ही पता चलता है, यह होम लोन पेंशनभोगियों के लिए है जो शायद एक स्टैंडर्ड होम लोन के योग्य न हों। आम तौर पर, जब पेंशनभोगियों और रिटायर्ड लोगों को इस तरह की परिस्थिति का सामना करना पड़ता है तो वे लोन की रकम बढ़ाने के लिए एक सह-उधारकर्ता को अपने साथ शामिल कर लेते हैं या कम कीमत वाली प्रॉपर्टी ढूंढते हैं। लेकिन, कई बैंक और लोन कंपनियां, अब पेंशनभोगियों को होम लोन देने लगी हैं जिसे चुकाने की अंतिम उम्र 76 साल तक होती है। लोन की अवधि, लोन कंपनी द्वारा निर्धारित की जाती है। EMI का पैसा, सीधे पेंशनभोगी के पेंशन अकाउंट से काट लिया जाता है। लोन की रकम कम होने के बावजूद, आप एक घर खरीदने की इच्छा को पूरा करने के लिए इसके साथ कुछ अतिरिक्त पैसे भी जोड़ सकते हैं। लेकिन इस तरह का लोन लेते समय यह जरूर देख लें कि आप अपने सामान्य खर्च को प्रभावित किए बिना अपने पेंशन से EMI चुका सकते हैं या नहीं।

अन्य प्रकार के होम लोन

     मान लीजिए, आप 48 साल के एक अधेड़ उम्र के घर खरीदार हैं। अधिकांश बैंक आपके रिटायरमेंट वर्ष के रूप में 60 साल के बाद आपके शेष जीवनकाल को ध्यान में रखते हुए आपको अधिक से अधिक 12 साल के लिए लोन देंगे। इतनी कम लोन अवधि के कारण EMI की रकम बढ़ जाती है जिससे उधारकर्ता को लोन चुकाने में कठिनाई हो सकती है। इस समस्या से निपटने के लिए कुछ बैंक या लोन कंपनियां अधेड़ उम्र के उधारकर्ताओं को अतिरिक्त लोन अवधि प्रदान करती हैं जिससे 60 साल की उम्र के बाद उनकी लोन अवधि बढ़ जाती है। इस तरह के होम लोन के कारण आवेदक आसानी से योग्यता मानदंड पर खड़ा उतरता है और EMI को आसानी से चुका पाता है। एक और होम लोन प्रॉडक्ट है जो सारी किस्तें समय पर चुकाने के बाद कुछ EMI माफ कर देता है।
यदि आप एक होम लोन के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इस तरह के होम लोन के बारे में अच्छी तरह जांच-पड़ताल करें और अपनी जरूरत के अनुसार एक उपयुक्त होम लोन चुनें।

Share :
Share :
source: इकनॉमिक टाइम्स.

Leave A Reply

Share :