कई तरह के होम लोन, आपके लिए कौन सा सही?

0

house, property rate

     घर-जमीन की बढ़ती कीमत के कारण, उपभोक्ताओं को घर या जमीन खरीदने के लिए होम लोन का सहारा लेना पड़ रहा है। इसके लिए बैंक और फाइनेंस कंपनियों ने ग्राहकों की अलग-अलग जरूरतों और प्रोफाइलों के आधार पर तरह-तरह के लोन देना शुरू किया है। इसलिए, आपको भी अपनी जरूरत और आर्थिक लक्ष्य के आधार पर एक सही लोन चुनना चाहिए। आइए, बाजार में मौजूद तरह-तरह के होम लोन पर नजर डालते हैं।

पहले से मंजूर किए गए होम लोन

        कुछ होम लोन, बैंक द्वारा पहले से ही मंजूर किए गए होते हैं। इस तरह के लोन आपके कर्ज चुकाने के इतिहास, आपकी आमदनी और आपके क्रेडिट स्कोर के आधार पर दिए जाते हैं, जिससे उम्मीदवारों की परेशानी कम हो जाती है। लोन को प्रोसेस करने में आम तौर पर 48 घंटे लगते हैं। पहले से मंजूर किए गए लोन की मदद से आप अपनी बजट के अनुसार कोई घर या जमीन खरीद सकते हैं, लेकिन इस तरह के लोन, एक निर्धारित समय में ही दिए जाते हैं और उन्हें उसी समय सीमा के भीतर लेना पड़ता है। पहले से मंजूर किए गए लोन आमतौर पर कम ब्याज पर मिलते हैं, लेकिन इसका लाभ उठाने के लिए कुछ प्रोसेसिंग फीस देनी पड़ती है।

निश्चित ब्याज दर वाले होम लोन

     इस तरह के होम लोन में लोन चुकाने की सम्पूर्ण अवधि के दौरान ब्याज दर एक समान रहता है। इस पर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव का कोई असर नहीं पड़ता है। हर महीने निश्चित परिमाण में लोन की ईएमआई चुकाने से बजट को ठीक रखने और आगे की प्लानिंग करने में काफी मदद मिलती है। इस तरह के लोन से आर्थिक सुरक्षा भी मिलती है क्योंकि इस पर बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव का कोई असर नहीं पड़ता है। लेकिन इसमें एक खराबी है, निश्चित ब्याज दर पर मिलने वाले होम लोन का ब्याज दर, अनिश्चित या अस्थायी ब्याज दर वाले होम लोन की तुलना में आम तौर पर काफी अधिक होता है।

अस्थायी ब्याज दर वाले होम लोन

     अस्थायी ब्याज दर वाले होम लोन बाजार में होने वाले उतार-चढ़ाव के कारण बदलते ब्याज दरों के अधीन होते हैं। अस्थायी ब्याज दरों में दो चीजें शामिल रहती हैं, मूल ब्याज दर और अस्थायी घटक; मूल दर में परिवर्तन होने पर अस्थायी दर में परिवर्तन होता है। यदि आप बढ़ते मुद्रास्फीति परिदृश्य में एक होम लोन लेना चाहते हैं तो अस्थायी ब्याज दर वाले होम लोन से दूर ही रहना चाहिए क्योंकि आम तौर पर मुद्रास्फीति मानदंडों के साथ ब्याज दरों का उल्टा संबंध होता है। आपकी फाइनैंशल प्लानिंग पर बदलते ब्याज दरों का बहुत भारी असर पड़ता है क्योंकि ब्याज दरों की अनिश्चितता, आपकी अन्य आर्थिक जिम्मेदारियों को पूरा करने में बाधा बन सकती है।

संयुक्त होम लोन

     एक संयुक्त होम लोन एक ऐसा लोन है जिसे एक से अधिक व्यक्तियों द्वारा एक साथ लिया जा सकता है। इसे परिवार के किसी सदस्य के साथ मिलकर लिया जा सकता है जिसमें आपका पति/पत्नी, माता-पिता, भाई-बहन आदि शामिल हो सकते हैं। लोन का भुगतान दोनों के अकाउंट से होता है और लोन चुकाने में देरी होने या चूक हो जाने पर इसके लिए दोनों जिम्मेदार होते हैं। संयुक्त होम लोन देते समय, बैंक दोनों सदस्यों की आमदनी पर विचार करते हैं और इसलिए, इस तरह के लोन की रकम सिर्फ एक व्यक्ति को दिए जाने वाले लोन की रकम से अक्सर काफी अधिक होती है। संयुक्त होम लोन का टैक्स लाभ, लोन लेने वाले दोनों सदस्यों को मिलता है।

होम इम्प्रूवमेंट लोन

     यदि आपको घर की मरम्मत कराने या उसका नवीकरण करने के लिए पैसों की जरूरत है तो आप एक होम इम्प्रूवमेंट लोन ले सकते हैं। एक साल तक समय पर लोन चुकाने वाला कोई भी व्यक्ति इस तरह का लोन ले सकता है, लेकिन इस लोन की रकम का इस्तेमाल सिर्फ घर की मरम्मत या नवीकरण के लिए ही करना होता है। पर्सनल लोन की तुलना में कम प्रोसेसिंग फीस और कम ब्याज दर पर मिलने के कारण, होम इम्प्रूवमेंट लोन, घर की मरम्मत और रखरखाव करने के लिए पैसों की तंगी होने पर काफी मददगार साबित हो सकता है।

     टेक्नॉलजी में उन्नति होने के साथ, होम लोन जल्दी और बिना किसी परेशानी के मिल सकता है। लेकिन कोई भी लोन लेने से पहले अपनी जरूरतों को ध्यान में रखते हुए अच्छी तरह सोच-समझकर सही लोन प्रॉडक्ट चुनें। बैंक बाजार, भारत का एक प्रमुख ऑनलाइन मार्केटप्लेस है जो तरह-तरह के क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन, होम लोन, कार लोन और इंश्योरेंस प्रॉडक्ट की तुलना करने और उनके लिए आवेदन करने में उपभोक्ताओं की मदद करता है।

Share :
Share :

About Author

Leave A Reply

Share :