ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट के बिना घर गैर-कानूनी, जानें क्या है ओसी

0

Flat, Building

     सोनिया चोपड़ा को जब अपने बिल्डर से 8 साल के इंतजार के बाद पजेशन लेटर मिला था तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था। फ्लैट की कीमत का बचा हुआ पैसा देने में उन्होंने जरा भी देर नहीं लगाई क्योंकि वह सालों से कंस्ट्रक्शन पूरा होने का इंतजार कर रही थीं। बिल्डर ने उन्हें फ्लैट की चाबी दी और कहा कि ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट (ओसी) कुछ महीनों में मिल जाएगा। बिना देर किए सोनिया अपने नए घर में शिफ्ट हो गईं।

     सोनिया की नए घर की खुशी ज्यादा दिनों तक नहीं टिक पाई। करीब एक साल बाद जब वह ओसी का इंतजार कर रही थीं, उनकी प्रॉपर्टी को अथॉरिटीज ने अनधिकृत घोषित कर दिया और फ्लैट खाली करने का निर्देश जारी कर दिया। आजकल बायर्स ओसी के बिना फ्लैट में शिफ्ट कर जाते हैं, जिस वजह से प्रॉपर्टी का लीगल स्टेटस खतरे में पड़ सकता है और इसे इग्नोर करने से खाली करने के निर्देश भी दिए जा सकते हैं। आइए जानते हैं क्या होता है ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट और आपके लिए क्या है इसका महत्व।

ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट है क्या?

      यह एक कानूनी दस्तावेज है जो यह पुष्टि करता है कि निर्माणकार्य बिल्डिंग नियमों के मुताबिक हुआ है। यह स्थानीय म्युनिसिपल प्रशासन द्वारा निर्माणकार्य पूरा होने के बाद जारी होता है और पजेशन के लिए तैयार है। अल्फा पार्टनर्स के असोसिएट कुनाल अरोड़ा ने बताया, ‘ओसी इसलिए महत्वपूर्ण हो चुका है क्योंकि यह वह दस्तावेज है जिससे यह बताता है कि निर्माणकार्य पूरा हो चुका है वह सभी नियमों का पालन करते हुए।’

सीसी और ओसी में अंतर

      कंप्लीशन सर्टिफिकेट (सीसी) यह बताता है कि बिल्डर ने किसी भी बिल्डिंग कानून को नहीं तोड़ा है और सभी स्टैंडर्ड्स को मानते हुए कंस्ट्रक्शन किया है। यह दस्तावेज किसी भी अपार्टमेंट या बिल्डिंग के लिए बेसिक सुविधाएं पाने के लिए जरूरी होता है। दूसरी ओर ओसी निर्माणकार्य पूरा होने के बाद लिया जा सकता है। सीसी को कानूनी ऑक्युपेशन नहीं माना जा सकता, शिफ्ट करने के लिए ओसी होना जरूरी है।

बिना ओसी के फ्लैट

1) ओसी के बिना आपकी बिल्डिंग गिराई जा सकती है या प्रशासन द्वारा उसे अनधिकृत करार दिया सकता है।

2) होम लोन के लिए अप्लाई करते समय या पुराने फ्लैट के लिए लोन लेते समय ओसी बहुत जरूरी है। वैलिड ओसी के बिना आप अपनी प्रॉपर्टी बेच भी नहीं सकते।

3) पानी, सीवर, बिजली जैसी आम सुविधाएं ओसी न होने पर बंद की जा सकती हैं।

कैसे करें अप्लाई?

       म्युनिसिपैलिटी में ओसी के लिए अप्लाई किया जा सकता है। अगर सभी तरह के अप्रूवल मिल चुके हैं तो ऐप्लिकेशन डालने के 30 दिनों के भीतर आपको ओसी मिल जाएगी। अगर आप बिल्डर हैं तो भी आपको सभी तरह के दस्तावेज दिखाने के बाद 30 दिनों के अंदर ओसी मिल जाएगी।

क्या करें अगर बिल्डर मना कर दे?

      ऐसा होने पर आप किसी वकील की मदद लेकर बिल्डर को नोटिस भेज सकते हैं और ओसी की मांग कर सकते हैं। आप एनसीडीआरसी में शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं। ओसी एक जरूरी दस्तावेज है तो आपके निवेश को सुरक्षित करता है। इसके बिना पजेशन स्वीकार न करें। एक बायर के रूप में आप यह सुनिश्चित करें कि आपके बिल्डर ने सभी जरूरी अप्रूवल्स लिए हैं।

पजेशन से पहले ये 5 चीजें रखें ध्यान

1) पजेशन लेटर

2) ऑक्युपेंसी सर्टिफिकेट

3) पार्किंग एरिया

4) फ्लोर प्लान

5) आम सुविधाएं

Share :
Share :
source: एकॉनिमक टाइम्स.

Leave A Reply

Share :