फ्लैट आवंटनः कोंकण लॉटरी में अटकी मुंबई बोर्ड की जान

0

Flat, Buildings

     महानगर में किफायती दाम पर आशियाने का सपना देख रहे लोगों को थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है। इसका कारण यह है कि म्हाडा कोकण बोर्ड को डर है कि यदि मुंबई बोर्ड की लॉटरी पहले निकाली गई, तो कोकण बोर्ड को आम लोगों के आवेदन नहीं मिलेंगे। हालांकि म्हाडा अधिकारी अधिकृत तौर पर यह तथ्य स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं।

डिपॉजिट की रकम का सवाल है

    सूत्रों के अनुसार, म्हाडा अधिकारियों की सोमवार को हुई बैठक में कोकण बोर्ड ने अधिकारियों के समक्ष यह बात रखी कि मुंबई बोर्ड की लॉटरी कोकण बोर्ड के बाद निकाली जाए। वजह में अधिकारी ने बताया कि यदि मुंबई बोर्ड की लॉटरी पहले निकाली गई, तो लोग इसी में आवेदन करेंगे। साथ ही आवेदन करने के लिए अमानती रकम (सिक्युरिटी डिपॉजिट) भी जमा करेंगे। ऐसे में एक डिपॉजिट के पैसे जमा कर दिए, तो लोग फिर कोकण बोर्ड के लिए आवेदन नहीं कर सकेंगे। इससे कोकण बोर्ड लॉटरी को लोगों का साथ नहीं मिल पाएगा।

विरार के 4000 घर लॉटरी में शामिल

   कोकण बोर्ड की इस वर्ष की लॉटरी का प्रचार मई के अंत में या फिर जून के पहले सप्ताह में जारी किया जा सकता है। जानकारी के अनुसार, कोकण बोर्ड की लॉटरी में विरार के 4000 घरों को शामिल किया जाएगा। ज्ञात हो कि ये घर निम्न आयवर्ग और निम्नतम आयवर्ग की श्रेणी के हैं। इनकी कीमत म्हाडा ने 18 लाख रुपये से 20 लाख रुपये तय की है। घरों का आकार 415 से 450 वर्गफुट कार्पेट एरिया है।

मुंबई बोर्ड लॉटरी के विज्ञापन मई में होने थे जारी

    मुंबई बोर्ड की लॉटरी के विज्ञापन म्हाडा द्वारा मई के शुरुआत में जारी किए जाने थे, लेकिन कोकण और पुणे बोर्ड की लॉटरी एक साथ होने की संभावना बन गई थी। मुंबई बोर्ड की लॉटरी की तारीख को आगे बढ़ा दिया गया। एनबीटी के पास मौजूद दस्तावेजों के अनुसार, मुंबई बोर्ड की लॉटरी में 1001 घर शामिल किए गए हैं। इनमें से 783 घर गरीबों के लिए आरक्षित रखे गए हैं।

Share :
Share :
source: नवभारत टाइम्स, मुंबई.

Leave A Reply

Share :