पीएम आवास से कतरा रहे बड़े डिवेलपर

0

Housing, PMAY

   बड़े डिवेलपर लखनऊ विकास प्राधिकरण की पीएम आवास योजना में टेंडर डालने से कतरा रहे हैं। यही कारण है कि पीएम आवास के निर्माण के लिए टेंडर होने के बाद भी एलडीए कोई एजेंसी फाइनल नहीं कर सका। दरअसल, टेंडर डालने वाली कंपनियों के पास काम का काफी कम अनुभव है। इनका टर्नओवर भी काफी कम है। ऐसे में एलडीए ने एक जून को दोबारा टेंडर करवाने का फैसला किया है।

     एलडीए की ओर से पीएम आवास के लिए करवाए गए डिमांड सर्वे में 10,569 आवेदन आए थे। इसके बाद अफसरों ने हरदोई रोड स्थित बालागंज और बसंतकुंज योजना में 2112 पीएम आवास के लिए डीपीआर तैयार किया। शासन से मंजूरी के बाद एलडीए ने इसके लिए टेंडर मांगे। योजना के मुताबिक, बालागंज में 432 और बसंतकुंज में दो चरणों मे 1680 आवासों का निर्माण होना है। इनकी अनुमानित लागत 83 करोड़ रुपये तय की गई है।

     जोन-6 के एक्सईएन प्रताप शंकर मिश्रा ने बताया कि बालागंज में पीएम आवास के निर्माण के लिए पांच कंपनियों ने रुचि दिखाई। इसी तरह बसंतकुंज में दो चरणों में किए गए टेंडर के लिए तीन कंपनियां सामने आईं। अधिकारियों का दावा था कि टेक्निकल और फाइनेंशल बिड की जांच के बाद कंपनी का चयन कर लिया जाएगा और जून से निर्माण भी शुरू हो जाएगा, लेकिन कोई भी कंपनी एलडीए के मानकों पर खरी नहीं उतरी।

आठों कंपनियां बाहर

    टेंडर में रुचि दिखाने वाली आठों कंपनियां फाइनेंशल बिड से बाहर हो गई हैं। मानकों के मुताबिक, पीएम आवास के लिए वही कंपनी क्वॉलीफाई होगी, जिसने 80 करोड़ रुपये का कोई एक प्रॉजेक्ट, या 60-60 करोड़ के दो प्रॉजेक्ट या 40-40 करोड़ के तीन प्रॉजेक्ट पूरे किए हों, लेकिन आठों में कोई कंपनी इस मानक पर खरी नहीं उतरी।

तीन चरणों में होगा टेंडर

    पीएम आवास के लिए एलडीए एक जून को ई-टेंडरिंग के माध्यम से फिर से टेंडर खोलेगा। इसके लिए एलडीए ने पूरे प्रॉजेक्ट को तीन हिस्सों में बांट दिया है। इसके तहत बालागंज में 18.43 करोड़ रुपये में 432 आवास बनाए जाएंगे, जबकि बसंत कुंज में पहले चरण में 29.37 करोड़ और दूसरे चरण में 34.88 करोड़ की लागत से 1680 आवास बनाए जाएंगे।

कोट

     पीएम आवास के लिए अभी तक कोई बड़ा डिवेलपर आगे नहीं आया है। जो भी कंपनियां आयीं हैं, उनके पास काम का अनुभव और टर्नओवर काफी कम है। इसी कारण नए सिरे से टेंडर करवाने का फैसला किया गया है।

                   – पीएन सिंह, वीसी, एलडीए

Share :
Share :
source: नवभारत टाइम्स, लखनऊ.

Leave A Reply

Share :