फ्लैट, भूखंड और दुकानों का बेचकर जीडीए करेगा शहर का विकास

0

property-papers_144479553

      जीडीए अपने फ्लैट, भूखंड और दुकानों को बेचकर शहर का विकास करने की योजना तैयार की है। 25 जुलाई से लेकर एक अगस्त के बीच नीलामी की जाएगी। जीडीए के विकसित क्षेत्रों में उसकी संपत्तियां और आवासीय भवन काफी संख्या में खाली पड़े हैं। जीडीए के अधिकारी बताते हैं कि इन भवनों में पौने पांच लाख रुपए से लेकर एक करोड़ तक की कीमत की संपत्तियां शामिल हैं। इन सबकी बिक्री होने से जीडीए को 300 करोड़ रुपये से ज्यादा की आय अर्जित होने की संभावना है। इस पैसे से शहर का विकास किया जाएगा।

190 से अधिक संपत्तियां होंगी निलाम

    जीडीए की 15 से अधिक योजनाओं में 190 से अधिक भवन, भूखंड और दुकानें खाली पड़ी हैं। इसमें मधुबन बापूधाम योजना, स्वर्णजयंतीपुरम योजना, गोविंदपुरम योजना, इंदिरापुरम योजना, इंद्रप्रस्थ योजना, यूपी बोर्डर पॉकेट, विवेकानंद नगर योजना, आरडीसी नगर, वैशाली योजना, अंबेडकर रोड, राजेंद्र नगर योजना, प्रताप विहार योजना, कौशांबी योजना, तुलसी निकेतन योजना, शास्त्रीनगर, कर्पूरापुरम योजना, गांधीनगर योजना, ब्रिज विहार योजना, नवयुग मार्केट आदि योजनाएं हैं।

वर्जन:-

    जीडीए अपनी 190 संपत्तियों की नीलामी 25 जुलाई से एक अगस्त के बीच करेगा। इससे होने वाले आय से शहर का विकास का कार्य किया जाएगा।

           – संतोष राय, सचिव, जीडीए

Share :
Share :
source: नवभारत टाइम्स, गाजियाबाद.

Leave A Reply

Share :