अमेरिका में लग्जरी संपत्तियां खरीदने में आगे हैं भारतीय धनकुबेर

0

property, house

     बड़े ग्लोबल लग्जरी रियल एस्टेट एक्सपर्ट्स के अनुसार भारत के हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल्स (एचएनआई) अमेरिका में लग्जरी संपत्तियों में निवेश के मामले में तीसरे नंबर पर हैं। यह बात दिल्ली में चल रहे ग्लोबल लग्जरी रियल्टी कॉन्क्लेव 2018 में चर्चा के दौरान सामने आई है।

     लग्जरी संपत्तियों की खरीद-बिक्री में शामिल रियल्टी ऑक्शन हाउस सोदबीज के अनुसार पिछले साल भारतीय खरीदार अमेरिका में निवेश करने के मामले तीसरे नंबर पर हैं। रिपोर्ट के अनुसार चीन और कनाडा के धनकुबेर इस मामले में पहले और दूसरे नंबर पर हैं। खरीदारों की इतनी बड़ी संख्या को देखते हुए सोदबीज इंटरनैशनल रियल्टी भारतीयों के लिए एक डेस्क शुरू करने जा रहा है। यह डेस्क न्यू यॉर्क में खोला जाएगा। बता दें कि सोदबीज दुनियाभर में लग्जरी संपत्तियों में डील करती है।

     एक्सपर्ट्स के अनुसार अमेरिका के अलावा यूरोप के देशों में भी भारतीय धनकुबरे (एचएनआई) बड़ी मात्रा में निवेश कर रहे हैं। एक डेटा के अनुसार पिछले साल भारतीयों ने अमरिका में महंगी रेजिडेंशल संपत्तियों में लगभग 567 अरब रुपयों का निवेश किया। 2016 में भारतीयों ने लगभग 389 अरब रुपये का निवेश लग्जरी संपत्ति खरीदने में किया। अगर आंकड़ो पर गौर करें तो 2016 के मुकाबले निवेश की राशि 2017 में 22 फीसदी ज्यादा है।

     टैक्स एक्सपर्ट्स के अनुसार विदेशी संपत्तियों में निवेश का ट्रेंड केवल एनआरआई ही नहीं, बल्कि भारत में रहने वाले भारतीयों में देखा जा रहा है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि विदेशों में निवेश करने के लिए रेजिडेंशल परमिट की अनिवार्यता खत्म होना इसकी एक बड़ी वजह है। इसी वजह से एनआरआई के साथ-साथ भारत में रहने वाले धनकुबेर बड़ी मात्रा में विदेशों में निवेश कर रहे हैं।

Share :
Share :
source: एकॉनिमक टाइम्स, नई दिल्ली.

Leave A Reply

Share :