होम लेने का मन बना रहें है, तो ये खबर सिर्फ आपके लिए है

0

Home Loan,

     सरकार की पहलकदमियों के चलते हाऊसिंग सैक्टर में काफी उछाल आया है, जिसके परिणामस्वरूप अफोर्डेबल हाऊसिंग फाइनांस इंडस्ट्री विकास की राह पर है। इतने अधिक लाभ मिलने के चलते उन भारतीयों की गिनती लगातार बढ़ रही है, जो बड़े विश्वास के साथ अपने घर का सपना पूरा करने की ओर कदम बढ़ा रहे हैं। ऐसी स्थिति में पहली बार घर खरीदने वालों के लिए विभिन्न हाऊसिंग फाइनांस कम्पनियों ने कस्टमर सपोर्ट प्रोग्राम शुरू किए हैं ताकि उन्हें आसानी से होम लोन उपलब्ध करवाया जा सके। आइए जानते हैं होम लोन प्राप्त करने के कुछ सरल उपाय:-

     सिबिल स्कोर :

     पहली बार होम लोन के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवार के क्रैडिट स्कोर या सिबिल स्कोर का मूल्यांकन वित्तीय संस्थान सबसे पहले करते हैं। सिबिल स्कोर  उम्मीदवार के वित्तीय अनुशासन और लोन सॢवस की योग्यता का निर्धारण करता है। क्रैडिट कार्ड की तय समय पर अदायगी, तय समय पर ई.एम.आई. की अदायगी तथा आमदनी का नियमित स्रोत एक स्वस्थ सिबिल स्कोर का आधार है। होम लोन एप्लीकेशन के लिए आपका सिबिल स्कोर बहुत अच्छा होना चाहिए। वित्तीय संस्थाएं उन लोगों को अधिमान देती हैं जिनका क्रैडिट स्कोर बहुत बढिय़ा होता है।  सिबिल स्कोर से उम्मीदवार की क्रैडिट हिस्ट्री, अतीत में की गई अदायगी के व्यवहार की स्पष्ट तस्वीर पता चलती है। इससे जीवन में उसकी वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित होती है।

   कर्ज के लिए योग्यता :

       होम लोन लेने से पहले व्यक्ति को अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति का मूल्यांकन कर लेना चाहिए और उसे एक अनुमानित राशि  निर्धारित कर लेनी चाहिए जो वह आसानी से अदा कर सके। लोन की रकम भी इतनी होनी चाहिए, कि लोन लेने वाला उसकी मासिक किस्त आसानी से दे सके। आपको भविष्य में अपनी आमदनी को प्रभावित करने वाले परिवर्तनों, ब्याज दरों में आने वाले उतार-चढ़ाव तथा जीवनशैली की किस्म को पूरी तरह ध्यान में रखना चाहिए। यदि होम लोन लेते समय आपका कोई अन्य लोन चल रहा है, तो उसे बंद करने का प्रयास करें क्योंकि उससे आपकी योग्यता कम हो सकती है। वित्तीय संस्थान आमतौर पर व्यक्ति की पूरी सम्पत्ति के 80 प्रतिशत हिस्से के बराबर कर्ज देते हैं। यह कम या बढ़ भी सकता है, जो लोन लेने वाले की योग्यता पर निर्भर करता है।

Home loan, Doc. Real Estate

     लोन देने वाली संस्था : 

     विभिन्न वित्तीय संस्थान काफी प्रतियोगी ब्याज दर तथा कस्टमर सॢवस ऑफर करते हैं। इससे कस्टमर को न सिर्फ होम लोन लेने में बल्कि अपने जीवन की सर्वाधिक महत्वपूर्ण सम्पदा प्राप्त करने में भी सहायता मिलती है। कई संस्थान बहुत बढिय़ा ब्याज दरें ऑफर करते हैं परन्तु महत्वपूर्ण बात यह है कि लोन देने से पहले उस संस्थान की सेवाएं कैसी हैं और बाद में कैसी हैं यह देख लेना चाहिए।

    तकनीकी स्पष्टता :

     कोई भी वित्तीय संस्थान होम लोन लेने वाले व्यक्ति द्वारा खरीदी जाने वाली सम्पत्ति की तकनीकी तथा कानूनी जांच करता है। यह न सिर्फ वित्तीय संस्थान के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, परन्तु कस्टमर के नजरिए से भी इसका बहुत महत्व है।  इसलिए होम लोन लेते वक्त खरीदी जाने वाली सम्पत्ति की तकनीकी तथा कानूनी जांच वित्तीय संस्थान से अवश्य करवा लें।

कागजी कार्रवाई : 

        होम लोन लेते वक्त प्रभावशाली दस्तावेजों का अत्यधिक महत्व है। इससे बैंक तथा वित्तीय संस्थानों को लोन लेने वाले की विश्वसनीयता तथा लोन की वापस अदायगी की योग्यता का पता चलता है। कागजी कार्रवाई इस प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण कदम इसलिए भी है कि बैंक या वित्तीय संस्थान दस्तावेजों को सबमिट करने से पहले आपको सबसे अच्छा संभव हल ऑफर कर सकें। अपने वर्तमान कर्जों, क्रैडिट कार्ड तथा सभी तरह  की अदायगी की हिस्ट्री लोनदाता को देना जरूरी है। इससे आपको लोन लेने में बहुत आसानी होगी। उन्हें अपनी वर्तमान वित्तीय स्थिति से पूरी तरह अवगत करवाएं।

17_18_248957481home bit -ll

विशेष स्कीमें :

     होन लोन के लिए फैस्टिव सीजन सबसे बढिय़ा माना जाता है। इस दौरान विभिन्न वित्तीय संस्थान काफी प्रतियोगी ब्याज दरें तथा प्रोसैसिंग फीस ऑफर करते हैं, ताकि घर खरीदने वालों को आसानी हो। अफोर्डेबल हाऊसिंग के प्रति नियामक संस्थाओं द्वारा की गई पहलकदमियां तथा सरकार द्वारा दिए जाने वाले ऑफर या स्कीमों पर ध्यान देना अति जरूरी है।

Share :
Share :

About Author

Leave A Reply

Share :